रविवार, 21 फ़रवरी 2010

प्रार्थना समय


अपार दुःख के साथ सूचित कर रही हूँ कि दि0 - 02 फरवरी 2010 को मेरी माँ (श्रीमती प्रेमा देवी ) का आकस्मिक निधन हो गया। वह सन् 1942 की क्रांति में गिरफ्तार होने वाली एवं स्वतंत्रता संग्राम की आंदोलनात्मक गतिविधियों में सक्रिय भागीदारी करने वाली संताल परगना की एक मात्र महिला स्वाधीनता सेनानी थीं। मेरे पिता श्रीकृष्ण प्रसाद जो स्वयं एक अग्रिम पंक्ति के स्वतंत्रता सेनानी थे के साथ मिल कर उन्होंने संघर्षपूर्ण जीवन जिया । जीवन पर्यंत सेवा, त्याग एवं समर्पण की भावना से लोक हित में जुड़ी रहीं। सादा जीवन उच्च विचार इनके जीवन की पूंजी थी। यों तो देश भर में अन्याय-अत्याचार-भ्रष्टाचार के विरूद्ध पति-पत्नी मिल कर लड़ते रहे किन्तु उनका प्रमुख कार्य क्षेत्र झारखण्ड -बिहार, उत्तर प्रदेश और गुजरात रहा।

12 नवम्बर , 1993 को पिता के निधन के बाद वह अकेली हो गईं। जीवन के अंतिम पलों तक बातचीत के क्रम में वे कहती रहीं। “ जिन आदर्शों-उसूलों के लिये हम जीवन भर लड़ते रहे , आज लोगों ने उन्हें भुला दिया है। जब लोग व्यक्तिगत हितों से ऊपर उठ कर समाज और राष्ट्र के हित की सोचेंगे, चुनौतियों का सामना करते हुए कठोर संघर्षपूर्ण जीवन जियेंगे तभी देश - समाज का सही विकास होगा । ”

आइये हम ईश्वर से इनकी आत्मा की शांति के लिये प्रार्थना करें -







प्रार्थना समय

- यह एक शीर्ष बिन्दु
- यह एक चरम पल


- इसके आगे कोई रास्ता नहीं
- इसके बाद कोई रास्ता नहीं
- सारे रास्ते यहीं से खुलते हैं
- सारे रास्ते यहीं पर बन्द होते हैं

प्रार्थना और बस केवल प्रार्थना
भिन्न - भिन्न रंगों में
भिन्न - भिन्न अंदाज में
भिन्न - भिन्न स्थानों पर की गई प्रार्थना

जिनका स्वाद एक है
जो एक ही जगह से निकलती है
जो एक ही जगह को छूती है

यह एक समर्पण
यह एक विसर्जन
यह एक हासिल संकल्पों और विकल्पों की


अपने आप से लड़ी जाने वाली रोज़ की लड़ाई
देह की मन से
मन की आत्मा से
मैं की तुम से ... तुम की मैं से
और भर दिन से छनकर धिर आती सांझ
मन की घाट पर सीढ़ियां चढ़ती इच्छायें
युगों से जमी काई पर फिसलतीं
गिरतीं और बिखर जातीं...

वह एक पल मन के आकाश पर निकले पूरे चाँद का
पूरी ज़िन्दगी को घेरती
सुबह की प्रार्थनायें ... शाम की प्रार्थनायें
जगाती और सुलाती
केवल और केवल बस प्रार्थनायें ...

40 टिप्‍पणियां:

Udan Tashtari ने कहा…

दुखद समाचार.

माता जी की आत्मा की शांति के लिए प्रभु से प्रार्थना.

मेरी श्रृद्धांजलि!

श्याम कोरी 'उदय' ने कहा…

...श्रृद्धांजलि!!!

"MIRACLE" ने कहा…

....Shraddhanjali

Mahfooz Ali ने कहा…

ओह ! बहुत दुःख हुआ....माँ को अश्रुपूरित...श्रद्धांजली...

--
www.lekhnee.blogspot.com


Regards...


Mahfooz..

sangeeta swarup ने कहा…

इश्वर माताजी की आत्मा को शांति प्रदान करे...

Tej Pratap Singh ने कहा…

very sad

अल्पना वर्मा ने कहा…

माता जी की आत्मा की शांति के लिए इश्वर से प्रार्थना.
श्रद्धांजली.

M VERMA ने कहा…

अत्यंत दुखद
श्रद्धांजलि

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन ने कहा…

माता जी को श्रद्धांजलि!
ईश्वर उनकी आत्मा को शान्ति दे!

JHAROKHA ने कहा…

आदरणीया माता जी श्रीमती प्रेमा देवी के निधन का समाचार पढ़ कर बहुत दुख हुआ। मां का स्थान तो कोई नहीं ले सकता। हमें उनकी यादों को संजो कर रखना चाहिये। वही यादें ही हमें जीवन पर्यन्त राह दिखाती हैं। सन्ध्या जी मैं भी अभी अभी इसी कष्ट से गुजरी हूं। गत 16 जनवरी को मेरी भी मां का निधन हो गया था। मैं भी अभी उस दुख से उबरने की कोशिश कर रही हूं। ईश्वर से प्रार्थना है की आदरणीया प्रेमा देवी जी की आत्मा को शांति दे। पूनम

प्रकाश गोविन्द ने कहा…

अत्यंत दुःख की घड़ी है !
-
-
-
माँ को अश्रुपूरित विनम्र श्रद्धांजली
ईश्वर उनकी आत्मा को शान्ति दे!
दुःख से उबरने की शक्ति दे !!!

दिगम्बर नासवा ने कहा…

बहुत ही दुखद समाचार है ... भगवान उनको अपने चरणों में जगह दे .... माँ की क्षति अपूरणीय होती है ...

aarkay ने कहा…

हार्दिक संवेदनाएं!

बेनामी ने कहा…

Hame jo janam dete hain,
wo hamaare zariye
zinda rahna chaahte hain...

Tum jo bhi kahti ho
wo jaane ki nahin
aane ki katha hai...
Vyatha chaahe kitni bhi ho
tumhari kaviya me...

Sooraj chukte hain
toh bante bhi hain

Ant tabhi tak hai
jab tak ham nahin jaante
ki anant hai...

Sainny Ashesh ने कहा…

Oopar kah to diya maine
ki sab anant hai
magar
ye kahna bhool gaya
ki aisa kahte wakt bhi
hame us kshati ki anubhooti
rahta hai
jo chale jane waale ke baad
der tak hamaare sath
chup baithi rah jaati hai...
Aksr sannata ban kar!

Fir wo to maa thi...

निर्मला कपिला ने कहा…

दुखद समाचार है मगर ये जीवन का एक सत्य भी है भगवान उनकी आत्मा को शाँति दे उनको विनम्र श्रद्धाँजली।

अमिताभ मीत ने कहा…

विनम्र श्रद्धाँजली।

ईश्वर उनकी आत्मा को शान्ति दे!

Dr. shyam gupta ने कहा…

---ओम शान्ति शान्ति शान्ति----
"पर क्या जीव, वस्तुतः
मुक्त होजाता है, सन्सार से ?
कैद रहता है वह सदा
मन में
आत्मीयों के याद रूपी
बन्धन में, और-
होजाता है -अमर। "

रंजीत ने कहा…

सिर्फ प्रार्थना
समवेत और चेतनासंपन्न ।

Einstein ने कहा…

विनम्र श्रद्धाँजली...

ज्योति सिंह ने कहा…

aapki mataji ko ashrupurit shradhaanjali meri aur se ,tumahari si jeevan ki jyoti hamaare jeevan me utre ,ye kuchh shabd meri or se shrdha suman ke roop me aapki maa ko ,aaj holi par milne aai aapse to ye khabar dekh pai ,aapko kai din se dekha nahi blog par chinta bhi rahi ,

संजय भास्कर ने कहा…

इश्वर माताजी की आत्मा को शांति प्रदान करे...

Babli ने कहा…

आपकी माताजी को श्रधांजलि अर्पित करती हूँ!

वन्दना अवस्थी दुबे ने कहा…

दुखद खबर. माता जी को विनम्र श्रद्धान्जलि.

प्रदीप कांत ने कहा…

दुखद खबर, श्रद्धान्जलि.

जयकृष्ण राय तुषार ने कहा…

नये घर मेँ पुराने एक दो आले तो रहने दो । दिया बनकर वहीँ से माँ हमेँशा रोशनी देगी।

जयकृष्ण राय तुषार ने कहा…

नये घर मेँ पुराने एक दो आले तो रहने दो । दिया बनकर वहीँ से माँ हमेँशा रोशनी देगी। ये सूखी घास अपने लाँन की काटो न तुम भाई। पिता की याद आयेगी तो ये फिर से नमी देगी।

कमलेश शर्मा ने कहा…

Very Sad....:(....Shraddhanjali

Snowa Borno ने कहा…

Kisi apne ne kaha toh
aapki kavitaayen dekheen.

Aapki shakhshiyat aur saleeka bhi.

Maa chali gayin, magar aapke sath ab aur bhi gahre roop me rahengi.

Mera pranaam hai unhen aur apko.

-Snowa Borno

psingh ने कहा…

दुखद घटना
भावभीनी श्रधांजलि .........

सुशीला पुरी ने कहा…

विनम्र श्रधांजली .......

M.A.Sharma "सेहर" ने कहा…

Shat shat naman aur meri विनम्र श्रद्धाँजली

पुरुषोत्तम कुमार ने कहा…

इश्वर उनकी आत्मा को शाँति प्रदान करे.
मेरी विनम्र श्रद्धांजली.

MUFLIS ने कहा…

बहुत दुखद समाचार
भगवान् बिछुड़ी आत्मा को
अपने श्री-चरणों में स्थान दें

usha rai ने कहा…

श्रद्धांजली

kshama ने कहा…

Har dua aapke saath hai..derse pata laga..maafee chahti hun..

संजय भास्कर ने कहा…

ओह ! बहुत दुःख हुआ....माँ को अश्रुपूरित...श्रद्धांजली...

Reetika ने कहा…

meri shraddhanjali sweekarein...

mridula pradhan ने कहा…

behad sunder rachna

mridula pradhan ने कहा…

dukhbhari kavita man ko choo gayi.