शुक्रवार, 2 अप्रैल 2010

भारतेन्दु हरिश्चन्द्र राष्ट्रीय एकता सम्मान



मित्रो, पिछले लगभग दो माह से मन माँ के ही ईर्द-गिर्द घूमता रहा। चाहूं भी तो कहीं और नहीं जुड़ पाता । अभी इस सदमे से उबर नहीं पाई थी कि संवाद मिला प्रकाशन विभाग, सूचना और प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा दिया जाने वाला भारतेन्दु हरिश्चन्द्र राष्ट्रीय एकता सम्मान , वर्ष - 2007 के लिये मेरी पुस्तक -पाण्डुलिपि “राष्ट्रीय एकता में भारतीय कवियों का योगदान ” का चयन किया गया है। वर्ष 2007 एवं वर्ष 2008 के राष्ट्रीय एकता पुरस्कार के लिये कोई अन्य विजेता नहीं हैं ।

दिनांक 29 मार्च, 2010, सोमवार को अपराह्न , पीआईबी कॉन्फ़्रेंस हॉल , शास्त्री भवन , नई दिल्ली में माननीया सूचना और प्रसारण मंत्री, भारत सरकार , श्रीमती अम्बिका सोनी के द्वारा एक समारोह में यह सम्मान प्रदान किया गया।






राष्ट्रीय एकता और स्वतंत्रता संग्राम में भारतीय कवियों का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। भारतीय कवि चाहे वे जिस भाषा, क्षेत्र एवं काल के रहे हों, उन्होंने एक स्वर से प्रेम, एकता, बंधुत्व, सहृदयता को अपनी रचनाओं में वाणी दी है । आज हम उन मूल्यो-आदर्शों को तेजी के साथ भुलाते चले जा रहे हैं जिनके लिये हमारे कवियों ने अपना जीवन उत्सर्ग कर दिया। आज हमें अपनी अस्मिताए अपने अस्तित्व की रक्षा के लिये उनके अवदान पर चिन्तन -मनन करना आवश्यक हो गया है। मैंने संत कवि तिरूवल्लुवर, भक्त कवि नरसिंह मेहता, गुरू गोविन्द सिंह से लेकर सुब्रह्मण्य भारती, पहाड़ी गाँधी बाबा कांशीराम, पं. परमानन्द अलमस्त, क़ाज़ी नज़रूल इस्लाम, सुभद्रा कुमारी चैहान, रामधारी सिंह दिनकर आदि कवियों के अमृत रस को निचोड़ने का एक लघु प्रयास अपनी कृति में किया है।

माता-पिता सहित अन्य सभी बड़े-बुजुर्गों के आशीर्वाद और आप सभी मित्रों की शुभकामनायें मेरी शक्ति है। आप सबों के प्रति हार्दिक आभार व्यक्त करती हूँ ।


55 टिप्‍पणियां:

sangeeta swarup ने कहा…

बहुत बहुत बधाई....

सूर्यकान्त गुप्ता ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
सूर्यकान्त गुप्ता ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
सूर्यकान्त गुप्ता ने कहा…

वास्तव में ३ बार वही टिपण्णी दल चुकी थी क्योंकि लगता है कुछ तकनीकी प्रॉब्लम है

Sanjeet Tripathi ने कहा…

bahut bahut badhai, shubhkamnayein

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…

सम्मान के लिए बधाई और शुभकामनाएँ!

संजय भास्कर ने कहा…

वाह!! आपको बहुत बहुत बधाई एवं अनेक शुभकामनाएँ.

ज्योति सिंह ने कहा…

haardik badhai aapko ,khushi hui ye dekhkar ,maa apne hone ka ahsaas dila rahi hai kahi aapko ,isliye kahte hai sharir nashwar hai parantu aatma ajar amar .

सुशीला पुरी ने कहा…

दिल से मुबारकबाद ....सचमुच आपकी कमी थी .

दिगम्बर नासवा ने कहा…

बहुत बहुत बधाई...

अल्पना वर्मा ने कहा…

आपको सम्मान के लिए बहुत बहुत बधाई और शुभकामनाएँ!

अक्षिता (पाखी) ने कहा…

ढेर सारी बधाई...

JHAROKHA ने कहा…

is behatareen samman ke liye hardik badhai swikar kare.

अरुणेश मिश्र ने कहा…

आगे वह लक्ष्य पुकार रहा . हाँकते हवा पर यान चलो । बधाई ।

विजय प्रकाश सिंह ने कहा…

सम्मान के लिए बहुत बहुत बधाई और शुभकामनाएँ!

psingh ने कहा…

badhaiyan.............

vishnu sah ने कहा…

samman ke liye dheron badhaiyan.aap hamare samay ki pratinidhi kaviyon me hain.

अक्षिता (पाखी) ने कहा…

एक बार फिर से आपको ढेर सारी बधाई..

_________________________
'पाखी की दुनिया' में जरुर देखें-'पाखी की हैवलॉक द्वीप यात्रा' और हाँ आपके कमेंट के बिना तो मेरी यात्रा अधूरी ही कही जाएगी !!

Dr. shyam gupta ने कहा…

बहुत बहुत बधाई.

aarkay ने कहा…

बहुत बहुत बधाई.

aarkay ने कहा…

बहुत बहुत बधाई.

BrijmohanShrivastava ने कहा…

बहुत खुशी हुई |आपको ढेर सारी बधाई

kunwarji's ने कहा…

बहुत बहुत बधाई...

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन ने कहा…

बहुत प्रसन्नता हुई. आपको हार्दिक बधाई!

विजयप्रकाश ने कहा…

सम्मान प्राप्ति के लिये बधाई

Babli ने कहा…

बेहद ख़ुशी हुई! आपको हार्दिक बधाइयाँ एवं शुभकामनायें !

श्याम कोरी 'उदय' ने कहा…

....बधाईंया व शुभकामनाएं!!!

Oshiya A New Woman ने कहा…

Bahut nikle tere armaan...

Saari khushiyon ke baavuzood :

"By honors, medals, titles no true man is elevated.
To realize that which we are, this is the honor for which we are created."

Salaamat raho.

Aur :
"Hazaaron khwaahishen aisi ki har khwaahish pe dam nikle... "

जयकृष्ण राय तुषार ने कहा…

meri bhi anant shubhkamanayen aapke saath hai.thanks for comment

प्रदीप कांत ने कहा…

बहुत बहुत बधाई.

JHAROKHA ने कहा…

सन्ध्या जी, आपको सम्मान के लिये हार्दिक बधाई एवम शुभकामनायें।

Dr.Ajay Shukla ने कहा…

rashtriya ekta par sochne aur likhne walon ki kami hai.meri or se badhai swikaren

महफूज़ अली ने कहा…

आपको बहुत बहुत बधाई...

usha rai ने कहा…

सम्मानित कृति के लिए जो सम्मान मिला है उसके लिए बहुत बहुत बधाई एवम शुभकामनायें !

वन्दना अवस्थी दुबे ने कहा…

हार्दिक बधाइयां.

राकेश कौशिक ने कहा…

सम्मानित हुईं आप लगा यूँ कायम है सच्चाई.
शब्दों के ये फूल कहें संध्या जी लाख बधाई.
बार बार ऐसे दिन आकर जीवन को महकाएं.
दिल से दुआ हमारी आपका मान सम्मान बढ़ाएं.

Suman ने कहा…

nice

Apanatva ने कहा…

bahut bahut badhai Sudhajee.lekhan ke kshetr me aage bhee naee bulandiyo ko chooe isee shubhkamna ke sath .SSneh

सुलभ § सतरंगी ने कहा…

आपका प्रयास उल्लेखनीय है. प्रेरक कार्य किया है आपने.
सम्मान के लिए बहुत बधाई.

kshama ने कहा…

Yah to behad achhee khabar sunayi aapne! Dheron badhayi sweekaar karen!

बेचैन आत्मा ने कहा…

मेरी भी बधाई स्वीकार करें। जानकर बहुत खुशी हुई।

kshama ने कहा…

Phir ekbaar fursatse aapka blog padhne chali aayi!

JAGDISH BALI ने कहा…

बहुत बहुत बधाई ! आप का ब्लोग देख कर लगा की आपकी रच्नाएं टिप्पणी से परे हैं !

hem pandey ने कहा…

इस सम्मान के लिए आपको बधाई ! आपका विषय और प्रयत्न सराहनीय है.
इस कृति के इतर ब्लॉगजगत में आपकी कवितायें मुझे उत्कृष्ट लगीं.

PKSingh ने कहा…

बहुत बहुत बधाई....अनेक शुभकामनाएँ.

कमलेश शर्मा ने कहा…

सम्मान के लिए बधाई और शुभकामनाएँ!

दीपक 'मशाल' ने कहा…

Bahut-bahut badhai ho Sandhya ji.. sath hi sochta hoon ki kya hi achchha hota jo ye puraskaar mata ji ke rahte aapko mil jata.

योगेन्द्र मौदगिल ने कहा…

सम्मान के लिये बधाई स्वीकारें...

मां जी के बारे में अब पता लगा. दुख हुआ. आप स्वयं को संभालें.

आदेश कुमार पंकज ने कहा…

बहुत सुंदर |

राजीव कुमार कुलश्रेष्ठ ने कहा…

ब्लाग पर देर में आना हुआ देर से ही सही पर
ढेरों बधाई...
satguru-satykikhoj.blogspot.com

RAJESHWAR VASHISTHA ने कहा…

बधाई...... हम सब के लिए यह सम्मान का क्षण है ।

nilesh mathur ने कहा…

आज आपकी कई रचनाएँ पढ़ी, बहुर प्रभावशाली रचनाएँ हैं!

M.A.Sharma "सेहर" ने कहा…

Greeeeeeeeeeat Sandhya ji...

Congratulations Ji

सुशील कुमार ने कहा…

बधाई हो मैडम जी आपको बहुत-बहुत और मुझे गर्व है कि आप दुमका से हैं। आपने दुमका के लेखकों का नाम और सिर उँचा किया है। अतिशय धन्यवाद!

Dr.Lal Ratnakar ने कहा…

देर से ही सही ढेर सारी बधाई आपको .